Aawara Sajde

आवारा सजदे

  • Book: Awaara Sajde
  • Video: Manish Gupta in Urdu Studio

इक यही सोज़-ए-निहाँ कुल मेरा सरमाया है
दोस्तो मैं किसे ये सोज़-ए-निहाँ नज़र करूँ
कोई क़ातिल सर-ए-मक़्तल नज़र आता ही नहीं
किस को दिल नज़र करूँ और किसे जाँ नज़र करूँ?

तुम भी महबूब मेरे तुम भी हो दिलदार मेरे
आशना मुझ से मगर तुम भी नहीं तुम भी नहीं
ख़त्म है तुम पे मसीहानफ़सी चारागरी
मेहरम-ए-दर्द-ए-जिगर तुम भी नहीं तुम भी नहीं

अपनी लाश आप उठाना कोई आसान नहीं
दस्त-ओ-बाज़ू मेरे नाकारा हुए जाते हैं
जिन से हर दौर में चमकी है तुम्हारी दहलीज़
आज सजदे वही आवारा हुए जाते हैँ

दूर मंज़िल थी मगर ऐसी भी कुछ दूर न थी
लेके फिरती रही रास्ते ही में वहशत मुझ को
एक ज़ख़्म ऐसा न खाया के बहार आ जाती
दार तक लेके गया शौक़-ए-शहादत मुझ को

राह में टूट गये पाँव तो मालूम हुआ
जुज़ मेरे और मेरा रहनुमा कोई नहीं
एक के बाद ख़ुदा एक चला आता था
कह दिया अक़्ल ने तंग आके ‘ख़ुदा कोई नहीं’

ik yahii soz-e-nihaa.N kul meraa sarmaayaa hai
dosto mai.n kise ye soz-e-nihaa.N nazr karuu.N
ko_ii qaatil sar-e-maqtal nazar aataa hii nahii.n
kis ko dil nazr karuu.N aur kise jaa.N nazr karuu.N?

tum bhii mahaboob mere tum bhii ho dil_daar mere
aashnaa mujh se magar tum bhii nahii.n tum bhii nahii.n
Khatm hai tum pe masiihaa_nafasii chaaraagarii
meharam-e-dard-e-jigar tum bhii nahii.n tum bhii nahii.n

apanii laash aap uThaanaa ko_ii aasaan nahii.n
dast-o-baazuu mere naakaaraa hue jaate hai.n
jin se har daur me.n chamakii hai tumhaarii dahaliiz
aaj sajde vohii aavaaraa hue jaate hai.N

duur manzil thii magar aisii bhii kuchh duur na thii
leke phiratii rahii raste hii me.n vahashat mujh ko
ek zaKhm aisaa na khaayaa ke bahaar aa jaatii
daar tak leke gayaa shauq-e-shahaadat mujh ko

raah me.n TuuT gaye paa.Nv to maaluum huaa
juz mere aur meraa rah_numaa ko_ii nahii.n
ek ke baad Khudaa ek chalaa aataa thaa
kah diyaa aql ne tang aake ‘Khudaa ko_ii nahii.n’