Articles in Interviews & Documentaries

Ajeeb Aadmi Tha Woh – by NCERT Official

अजीब आदमी था वो…. मोहब्बातों का गीत था बग़ावतों का राग था कभी वो सिर्फ़ फूल था कभी वो सिर्फ़ आग था अजीब आदमी था वो… वो मुफ़लिसों से कहता था कि दिन बदल भी सकते हैं वो जाबिरों से…

Continue reading »

Sonakshi Sinha recites the beautiful words of Kaifi Azmi’s poem ‘Aurat’

Sonakshi Sinha recites the beautiful words of Kaifi Azmi’s poem ‘Aurat’ Zindagii jehad mein hai sabr ke qaabuu mein nahii, Nabz-e-hastii kaa lahuu kaamptii aansuu mein nahii, Udne khulne mein hai nakhat kham-e-gesu mein nahii, Jannat aik aur hai jo…

Continue reading »

Kaifi Azmi Ki Kahani – Documentary on Kaifi Azmi

कैफ़ी आज़मी…..गुज़रे ज़माने के एक ऐसे शायर….जिनके लिखे फ़िल्मी तरानों की खुशबू आज भी फ़िज़ाओं में महकती है….गुज़रे ज़माने के एक ऐसे शायर….जिनके लिखे फ़िल्मी तरानों की खुशबू आज भी फ़िज़ाओं में महकती है….। नर्म नाजुक लफ़्जों से सजे हिंदी…

Continue reading »

nida-fazli-azmikaifi

शोषित वर्ग के शायर थे कैफ़ी आज़मी

कैफ़ी आज़मी मेरे समकालीन थे. उसी तरह जैसे उम्र के फ़र्क के बावजूद वह अपने सीनियर शायर जोश मलीहाबादी, रघुपति सहाय फ़िराक़ और जिगर मुरादाबादी के समकालीन थे. वह इन बुज़ुर्गों के ज़माने के नौजवान शायर थे. सन् 35-36 में…

Continue reading »