यूपी की पहली स्मार्ट ट्रेन बनी कैफियात, इन खास सुविधाओं से हुई लैस

यूपी की पहली स्मार्ट ट्रेन बनी कैफियात, इन खास सुविधाओं से हुई लैस

आजमगढ़़। रायबरेली के मॉडर्न कोच फैक्ट्री में बने देश के पहले स्मार्ट रेलवे कोच को पहली बार ट्रायल के लिए कैफियात एक्सप्रेस में लगाया गया है। इसे स्मार्ट कोच इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि पहली बार रेलवे का कोच खुद ही बताएगा उसमें पानी कम हो रहा है या नहीं, एसी ठीक से चल रहा है या नहीं, ट्रेन के एक्सेल में कोई दिक्कत तो नहीं।

रेल अधिकारी का कहना है कि भारतीय रेल ने देश का पहला स्मार्ट कोच बनाया है, जिसे कैफियात एक्सप्रेस में ट्रायल के लिए लगाया गया है। यह प्रयोग सफल रहा तो इस तरह के कोच सभी प्रीमियम ट्रेनों में लगाए जाएंगे। गुरुवार को जब दिल्ली से कैफियात एक्सप्रेस (12226 डाउन ट्रेन) आजमगढ़ रेलवे स्टेशन पहुंची तो स्मार्ट कोच को देख यात्रियों की भीड़ एकत्र हो गई।

रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी संजय यादव ने बताया कि ट्रेन में लगा सेंसर इस बात का भी अनुमान लगाएगा कि जिन जगहों से होकर रेल का डिब्बा गुजर रहा है वहां की पटरी सही है या नहीं। अगर पटरी में कोई परेशानी है तो वहां से गुजरने पर यह सेंसर इसकी जानकारी रेलवे को दे देगा। यात्री सूचना प्रणाली यात्रियों को ट्रेन के अगले स्टेशन के बारे में सूचित करेगी और अगले स्टेशन पर आने का अपेक्षित समय भी दर्शाएगी। यह प्रणाली ट्रेन की गति भी दिखा सकती है। जलस्तर सूचक पानी की जरूरत के बारे में एसएमएस के माध्यम से रखरखाव कर्मचारियों को पहले ही सूचना दे सकता है।

उच्चतम क्वालिटी के सीसीटीवी रेल यात्रियों की सुरक्षा में रहेंगे और ऑन-बोर्ड रेलवे कर्मचारियों के व्यवहार और गतिविधियों की निगरानी भी करेंगे। सीसीटीवी की फुटेज यात्रा के दौरान किसी भी अप्रिय घटना की जांच और अपराधियों की पहचान करने में रिमोट कंट्रोल सेंटर से सीधे हस्तक्षेप करते हुए मदद करेगा। कोच रेलयात्रियों (विशेष रूप से महिलाएं और बच्चे) तथा ट्रेन के गार्ड के बीच संचार के लिए आपातकालीन टॉक बैक सिस्टम भी प्रदान किया गया है ताकि जरूरी सहायता प्रदान की जा सके।

Source: http://vicharkhabar.com/indias-first-smart-train-made-up-of-cafias-equipped-with-these-special-features/